Physical Distribution-Its meaning, definitions, and components – In Hindi

भौतिक वितरण (Physical Distribution) का संबंध उन गतिविधियों से है जो तैयार माल के एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाने से संबंधित हैं। यह थोक और खुदरा विपणन को संदर्भित करता है।

भौतिक वितरण का अर्थ (Meaning of Physical Distribution):

भौतिक वितरण (Physical Distribution) में कच्चे माल और तैयार उत्पादों को उत्पादक से उपभोक्ता तक मध्यस्थों के माध्यम से संभालना और स्थानांतरित करना शामिल है। इसे रसद भी कहा जाता है (उपकरण और सुविधाओं की खरीद, रखरखाव और परिवहन आदि से संबंधित सैन्य विज्ञान का एक प्रभाग)

दूसरे शब्दों में, इसका (Physical Distribution) अर्थ उत्पादन इकाई से अंतिम उपयोगकर्ता तक अंतिम वस्तुओं और सेवाओं का वितरण है। यह वितरण किसी भी संख्या में थोक और खुदरा बिक्री चैनलों द्वारा होता है और इसमें गोदाम साइट चयन, और गोदाम, ग्राहक सेवा, सूची नियंत्रण, सुरक्षात्मक पैकेजिंग, सामग्री प्रबंधन, ऑर्डर जुलूस और परिवहन जैसे महत्वपूर्ण निर्णय क्षेत्र शामिल हैं।

यह ‘समय’ और ‘स्थान’ उपयोगिता बनाता है, जो उत्पादों के मूल्य को “सही ग्राहक को सही समय और स्थान पर वितरित करके” अधिकतम करता है। वितरण (Physical Distribution) में महत्वपूर्ण भागीदार हैं; निर्माता, बिचौलिए और उपभोक्ता।

परिभाषाएं (Definitions):

“भौतिक वितरण व्यापार रसद का विज्ञान है जहां सही प्रकार के उत्पाद की उचित मात्रा में उस स्थान पर उपलब्ध कराया जाता है जहां इसकी मांग मौजूद है। इस दृष्टि से देखा जाए तो भौतिक वितरण विनिर्माण और मांग निर्माण के बीच महत्वपूर्ण कड़ी है।”

-Wendell M. Smith 

“भौतिक वितरण में उत्पादों के भौतिक प्रवाह का प्रबंधन और प्रवाह प्रणाली की स्थापना और संचालन शामिल है।”

-W.J. Stanton 

“भौतिक वितरण में वस्तुओं के उत्पादन के बाद और उनके उपभोग से पहले की वास्तविक आवाजाही और भंडारण शामिल है”।

-Cundiff and Still

“भौतिक वितरण व्यक्तिगत फर्मों के भीतर और चैनल सिस्टम के साथ माल की वास्तविक हैंडलिंग और स्थानांतरण है।”

-Mc Carthy

भौतिक वितरण के घटक (Components of Physical Distribution):

1. ग्राहक सेवा (Customer service):

इसमें विभिन्न ग्राहक सेवा मानकों (90%, 95%, या 24 घंटों के भीतर 100%), ग्राहकों की संतुष्टि और तत्काल ऑर्डर के मामले में त्वरित डिलीवरी आदि को पूरा करने के लिए लागत के उपयुक्त रिकॉर्ड शामिल हैं।

2. आदेश प्रसंस्करण (Order Processing):

इसका अर्थ है ग्राहकों की इच्छा/मांग या स्थान और समय की आवश्यकताओं के अनुसार ऑर्डर देना।

आदेश प्रसंस्करण कार्य निम्नलिखित प्रश्नों से संबंधित हैं:

(ए) ऑर्डर मिलने पर सेल्समैन क्या करता है?

(बी) यदि ऐसा आदेश सीधे आदेश विभाग द्वारा प्राप्त किया जाता है तो क्या होगा?

3. सूची नियंत्रण (Inventory Control):

यह इन्वेंट्री / स्टॉक, टूट-फूट आदि में निवेश किए गए धन से संबंधित है।

4. भंडारण (Warehousing):

इसमें ग्राहकों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार वस्तुओं को प्राप्त करना, भंडारण और वितरण के लिए लोड करना शामिल है।

5. परिवहन मोड (Transportation Mode):

इसका मुख्य उद्देश्य ग्राहकों के खरीद के स्थान पर या उनके दरवाजे पर सामान और सेवाओं को उपलब्ध कराना है। दूसरे शब्दों में, सही समय पर और सही जगह पर वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति करना। और हम कह सकते हैं कि यह परिवहन के माध्यम से ही संभव है। रेल, वायुमार्ग, सड़क मार्ग, जलमार्ग परिवहन के प्रमुख उदाहरण हैं।

6. सामग्री प्रबंधन (Materials Handling):

कुछ चीजें ऐसी होती हैं जो हल्के वजन की हो सकती हैं लेकिन कुछ भारी हो सकती हैं, जिन्हें उचित तरीके से संभालने और अत्यधिक देखभाल की आवश्यकता होती है। आधुनिक भंडारण सुविधाओं में, वस्तुओं/वस्तुओं/सामग्रियों को उपकरण (रेल, वायुमार्ग, सड़क मार्ग, जलमार्ग) को संभाल कर सुरक्षित रूप से संभाला जा सकता है।

Leave a Reply