Business services-its characteristics and types – In Hindi

Advertisement

व्यावसायिक सेवाएँ (Business Services) प्रकृति में अमूर्त हैं और सेवा क्षेत्र सभी व्यावसायिक गतिविधियों को सुचारू बनाने के लिए एक अच्छा बुनियादी ढांचा प्रदान करता है।

व्यवसाय सेवाओं का अर्थ (Meaning of Business services):

व्यावसायिक सेवाएँ वे हैं जो बैंकिंग, परिवहन, भंडारण, बीमा संचार आदि से जुड़ी हैं और व्यवसायों (Businesses

Advertisement
) के सुचारू रूप से चलने के लिए सहायक हैं।

ग्राहकों को बैंकों द्वारा वित्तीय सेवाएँ प्रदान करना, खुदरा स्टोर द्वारा माल पहुँचाना, ग्राहकों को उत्पाद के बारे में ज्ञान प्रदान करना व्यावसायिक सेवाओं (Business Services) का सबसे अच्छा उदाहरण है।

Advertisement
Advertisement

सेवा क्षेत्र कृषि और उद्योग की तुलना में भारतीय अर्थव्यवस्था में बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

व्यावसायिक सेवाओं के लक्षण (Characteristics of Business services):

व्यवसाय सेवाओं (Business Services) के लक्षण इस प्रकार हैं:

1. विषम जातीय (Heterogeneous):

ग्राहकों की अपेक्षाओं के अनुसार सेवाएँ भिन्न हैं। ये सेवाएं विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग हैं। उदाहरण के लिए, सार्वजनिक क्षेत्र की सेवाएँ और निजी क्षेत्र की सेवाएँ। ये क्षेत्र शीर्ष अधिकारियों द्वारा निर्धारित नियमों और विनियमों के अनुसार अपने कार्य करते हैं।

2. आविष्करण(Inventory):

सेवाओं को माल या सामग्री की तरह संग्रहीत नहीं किया जाता है। ये स्वभाव से नाशवान होते हैं। इन सेवाओं को वर्तमान में ग्राहकों को दिया जाता है, भविष्य के लिए नहीं सहेजा जाता है। उदाहरण के लिए – सिनेमा टिकट, बस टिकट आदि।

3. अवियोज्यता (Inseparability):

प्रदान की गई सेवा से सेवाओं को अलग नहीं किया जा सकता है। इस मामले में, सेवा प्रदाता अपने ग्राहकों को एक ही समय और स्थान पर सेवाएं देता है।

उदाहरण के लिए, वकील, चार्टर्ड एकाउंटेंट, शिक्षक, डॉक्टर वे सेवा प्रदाता हैं और उनकी सेवाएं अविभाज्य हैं।

4. ग्राहकों को शामिल करना (Involvement of customers):

ग्राहक, सेवा प्रदाता द्वारा दी गई सेवाओं का लाभ उठाने के लिए आवश्यक हैं। उदाहरण के लिए, संचार क्षेत्र या दूरसंचार क्षेत्र सेवाएं प्रदान करते हैं लेकिन इन सेवाओं का उपयोग करने के लिए ग्राहक को कॉल प्राप्त करना होता है।

अगर ग्राहक सेवा में रुचि नहीं लेंगे तो इस क्षेत्र को नुकसान हो सकता है। इसलिए, ग्राहक हर व्यवसाय की जड़ें हैं, ग्राहक की भागीदारी के बिना कोई भी व्यवसाय जीवित नहीं रह सकता है।

5. अमूर्त (Intangible):

एक व्यक्ति केवल सेवाओं का अनुभव कर सकता है। इन सेवाओं को ऐसे व्यक्तियों द्वारा देखा या स्पर्श नहीं किया जा सकता है, इसलिए इन्हें अमूर्त कहा जाता है।

Classification of services:

These are classified into three categories:

1. Business services: 

These services are used by business organisations to run their business activities more smoothly.

For example Banking, Insurance, Transportation, Telecom Industry.

2. Social services: 

Social services are carried voluntarily to achieve the social goals to improve the standard of living of weaker section of the society.

उदाहरण के लिए – शिक्षा क्षेत्र, स्वास्थ्य क्षेत्र।

3. व्यक्तिगत सेवाएँ (Personal services):

ये सेवाएँ अलग-अलग सेवा प्रदाताओं के अनुसार भिन्न होती हैं क्योंकि ये ग्राहकों की माँग और पसंद के अनुसार दी जाती हैं।

उदाहरण के लिए – रेस्टोरेंट, सैलून, पर्यटन।

विषय पढ़ने के लिए धन्यवाद।

कृपया अपनी प्रतिक्रिया पर टिप्पणी करें जो आप चाहते हैं। यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो कृपया हमें टिप्पणी करके पूछें।

References: –

https://vkpublications.com/

Also, Check our Tutorial on the following subjects: 

    1. https://tutorstips.com/financial-accounting/
    2. https://tutorstips.com/advanced-financial-accounting-tutorial

 

 

 

 

 

Advertisement

1 thought on “Business services-its characteristics and types – In Hindi”

Leave a Reply