8 Difference between Equity share and Preference share – In Hindi

इक्विटी शेयर और वरीयता शेयर (Equity share and Preference share) के बीच मूल अंतर लाभांश की सीमा है। वरीयता शेयर के प्रकार में, लाभांश की दर इश्यू से पहले ही तय हो जाती है लेकिन इक्विटी शेयर का लाभांश तय नहीं होता है यह वर्ष के लाभ पर निर्भर करेगा।

इन दोनों में अंतर जानने के लिए हमें इन शब्दों का अर्थ स्पष्ट करना होगा और इस प्रकार समझाया जाएगा: –

इक्विटी शेयर का अर्थ (Meaning of Equity Share):

“(ए) इक्विटी शेयर पूंजी-
(i) मतदान के अधिकार के साथ; या
(ii) ऐसे नियमों के अनुसार लाभांश, मतदान, या अन्यथा के रूप में विभेदक अधिकारों के साथ, जैसा कि निर्धारित किया जा सकता है;

– Section 43 subsection (a) for the Indian Companies Act, 2013

वरीयता शेयर का अर्थ (Meaning of Preference share):

“(बी) वरीयता शेयर पूंजी:
बशर्ते कि इस अधिनियम में निहित कुछ भी वरीयता शेयरधारकों के अधिकारों को प्रभावित नहीं करेगा जो इस अधिनियम के शुरू होने से पहले समापन की आय में भाग लेने के हकदार हैं।”

– Section 43 subsection (b) for the Indian Companies Act, 2013

इक्विटी शेयर और वरीयता शेयर के बीच अंतर का चार्ट (Chart of Difference between Equity Share and Preference share): –

अंतर का आधार

इक्विटी शेयर

प्राथमिकता शेयर

अर्थइक्विटी शेयर को लाभांश प्राप्त करने और पूंजी के पुनर्भुगतान का कोई अधिमान्य अधिकार नहीं है।वरीयता शेयर को लाभांश प्राप्त करने और पूंजी के पुनर्भुगतान का अधिमान्य अधिकार है।
प्रदर्शन का भुगतानइक्विटी शेयर पर लाभांश का भुगतान वरीयता शेयरों पर लाभांश के भुगतान के बाद किया जाता है।वरीयता शेयर पर लाभांश का भुगतान इक्विटी शेयरों पर लाभांश के भुगतान से पहले किया जाता है।
लाभांश की दरलाभांश की दर निश्चित नहीं है।लाभांश की दर जारी करने से पहले तय की जाती है।
बदल सकनाइसे परिवर्तित नहीं किया जा सकता है।It may be converted to equity share if the terms are provided Before issue. 
वापस खरीदेयह बायबैक हो सकता है।इसे बायबैक नहीं किया जा सकता है।
ऋणमुक्तिइसे भुनाया नहीं जा सकता।इसे प्रॉस्पेक्टस की शर्तों के अनुसार भुनाया जा सकता है।
मतदान अधिकारइक्विटी शेयरधारकों को सभी प्रकार की परिस्थितियों में किसी भी निर्णय के लिए वोट देने का अधिकार है।वरीयता शेयरधारकों को केवल विशिष्ट/विशेष परिस्थितियों में मतदान करने का अधिकार है।
प्रबंधन में भागीदारीइक्विटी शेयरधारकों को व्यवसाय के प्रबंधन में भाग लेने का अधिकार है।वरीयता शेयरधारकों को व्यवसाय के प्रबंधन में भाग लेने का कोई अधिकार नहीं है।


चार्ट को पीएनजी और पीडीएफ में डाउनलोड करें (Download the chart in PNG and PDF): –

यदि आप चार्ट डाउनलोड करना चाहते हैं तो कृपया निम्न चित्र और पीडीएफ फाइल डाउनलोड करें: –

Chart of Difference between Equity Share and Preference share
Chart of Difference between Equity Share and Preference share
application-pdf
Difference between Partnership and Company

 

निष्कर्ष (Conclusion):

इस प्रकार, दोनों प्रकार के व्यवसाय एक दूसरे से एक प्रकार से बहुत भिन्न होते हैं अर्थात इक्विटी शेयर को उनकी सहमति से व्यवसाय चलाने का पूरा अधिकार है, लेकिन वरीयता शेयरधारक दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों के साथ-साथ व्यवसाय के प्रबंधन में हस्तक्षेप नहीं कर सकते।

विषय पढ़ने के लिए धन्यवाद।

कृपया अपनी प्रतिक्रिया कमेंट करें जो आप चाहते हैं। अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

References: –

https://vkpublications.com/

Also, Check our Tutorial on the following subjects: 

    1. https://tutorstips.in/financial-accounting/
    2. https://tutorstips.in/advanced-financial-accounting-tutorial

Leave a Reply